Hunted places

Surya prakash
0

 इस दुनिया में बहुत ही सुन्दर जगहें हैं , लेकिन क्या आप जानते है यह दुनिया तरह तरह के रहस्यों से भरा हुआ इस दुनिया में आज भी कुछ ऐसी जगहें है जहां दिन में भी जाने से डर लगता है ,लोग कहते हैं की आज भी उन जगहों पर कुछ ऐसी शक्तियां मौजूद है जिसे आप महसूस कर सकते है।

पूरी दुनिया में ऐसी बहुत सी जगहें है और कहते है की हर उस जगह का संबंध किसी न किसी घटना के साथ है। वहां कुछ ऐसा हुआ होता है की उन्हे हंटेड पाल्सेस के नाम से जाना जाता है।


अब आपके मन में ये सवाल आ रहा होगा क्या सच में भूत होते हैं या ये सिर्फ कहानियां है, लेकिन आज आपका ये confusion भी दूर कर देते हैं। दोस्तो आप सभी तो भगवान में विश्वास रखते हो होंगे । उसी तरह अगर इस दुनिया में जो लोग भगवान को मानते हैं वो भूत को भी मानते हैं, 

कहते हैं की अगर इस दुनिया में भगवान है तो शैतान भी हैं मतलब अगर अच्छी शक्तियां है तो बुरी भी है ।

चलिए जानते है की क्या सच में भूत होते है अगर होते है तो कहा होते है हमे दिखाए क्यों नहीं देते।

Bhoot भूत

ये जो भूत प्रेत होते हैं ये लोक कथा और संस्कृत मे आलौकिक प्राणी होते है। ऐसा माना जाता है की भूत किसी मृतक की आत्मा से बनते हैं।  कहते हैं की जिस व्यक्ति की मृत्यु के समय उसकी कोई इच्छा पूरी नहीं पाती अधूरी रह जाती है वो अपने पुनर्जन्म के लिए स्वर्ग या नर्क में नही जा पाते हैं और वो भटकते रहते है भूत बन जाते है ।

क्या आप लोग भूतो में विश्वास रखते है अगर नही तो आज से करने लगेगें। भूत प्रेत में विश्वास पीढ़ियों से दुनिया के कई लोगों के दिमाग की गहराई से जुड़ा हुआ है। यह वैज्ञानिक युग में आज भी रहस्य का विषय बना हुआ है। 


Real Bhoot असली भूत 

लगभग सभी लोगों ने अपने बचपन में भूत प्रेत की कहानियां तो सुनी ही होंगी किसी ने अपनी मां से तो किसी ने अपनी दादी से। और इन कहानियों को सुनने के बाद कुछ समय तक हमारे मन में ये सवाल आता था की क्या सच में भूत होते हैं या सिर्फ कहानियों में होते है।
मगर जब हमारे साथ कुछ ऐसे घटना होती है तो हमे लगता है की भूत होते हैं। भूत प्रेतों का जिक्र हमारी पुस्तकों में भी आता है।

वैज्ञानिक भाषा में इसे Paranormal Activity  कहते हैं। दुनिया में ऐसी बहुत से जगहें है जहां लोगो द्वारा भूतो को देखने तथा उन्हें महसूस करने के घटनाएं सामने आती रहती हैं 


Hunted places in India भारत में डरावनी जगहें

1. भानगढ़ का किला ( Fort of bhangarah )
2. मुकेश मिल्स ( Mukesh miles )
3. गोलकुंडा किला ( Golkunda fort )
4. जैसलमेर का कुलधारा गांव (Kuldhara village of Jaisalmer )
5. संजय वन ( sanjay forest )

1.भानगढ़ का किला ( For of bhangarah )

Bhangarah fort

दुनिया में ऐसी बहुत सी जगह हैं जहां बुरी आत्माओं ने अपना कब्जा जमा रखा है। अगर हम इतिहास के पन्नों को पलटा तो यह वही स्थान है । जहां एक समय पहले काफी खुशहाली आती थी चारों तरफ खुशी का माहौल रहता था। लेकिन बस एक बुरी नजर की वजह से यह स्थान श्रापित हो गए।

जिस स्थान पर कभी खुशियां ही खुशियां होती थी आज वहीं एक अजीब सी खामोशी रहती हैं। वह स्थान अंधेरे के बीच में कहीं पर खो गया। और ऐसा ही एक स्थान है भानगढ़ का किला जो कभी अपनी भव्यता और सुंदरता के लिए जाना जाता था। आज वह अपनी भूतिया कहानियों को लेकर काफी चर्चा में है। बल्कि यह एक ऐसी सच्चाई है जिसे आज तक पीछा नहीं छुड़ाया जा सका। 

17 वीं शताब्दी में राजा सवाई मानसिंह के छोटे भाई राजा माधव सिंह ने इस भानगढ़ के किले का निर्माण करवाया था। यह किला देखने में जितना भव्य और सुंदर दिखता है उतना ही अद्भुत है। इस किले के चारों तरफ पहाड़ों की सुंदरता है। कहते हैं कि इस किले के निर्माण के लिए राजा ने बेहतरीन शिल्प कलाओं का प्रयोग किया था। इसके लिए में हिंदू देवी देवताओं के मंदिर का भी निर्माण करवाया गया था। 

इस किले के निर्माण में जिन पत्थरों का प्रयोग किया गया था वह बेहद ही मजबूत थे तभी तो आज इतने सालों बाद भी यह किला जस का तस है। लेकिन इस सुंदर किले की एक भयानक सच्चाई इसके अंदर ही कैद है। कहते हैं कि इस किले को एक तांत्रिक का श्राप है जिसके कारण शाम ढलते ही इसके अंदर से भयानक आत्माओं की आवाज आने लगती है। 

कहते हैं कि भानगढ़ की राजकुमारी बहुत ही सुंदर थी उसका नाम रत्नावती था रत्नावती को आसपास के सभी राज्य के राजकुमार चाहते थे वह उनसे विवाह करना चाहते थे लेकिन रत्नावती को उनमें से कोई भी पसंद नहीं आता था। लेकिन उसी राज्य में सिंघिया नाम का एक तांत्रिक भी रहता था वह अपने  काले जादू के लिए मशहुर था। उसकी नजर भानगढ़ की राजकुमारी रत्नावती पर पड़ी  वह उससे विवाह करना चाहता था। 

लेकिन राजकुमारी उसे कभी पलट कर भी नहीं देखती थी। जिस दुकान से राजकुमारी के लिए इत्र जाता था सिंघिया ने उस दुकान पर जाकर उस इत्र पर काला जादू यानी वशीकरण मंत्र का प्रयोग किया लेकिन उसका यह मंत्र उसी पर पलट गया। जब राजकुमारी को इस बात का पता चला तो उन्होंने वह इत्र की शीशी को एक पत्थर से तोड़ दिया जिस कारण शिंघिया की मौत एक बड़े पत्थर के नीचे आने से हो गई लेकिन मरने से पहले उसने इस किले को एक श्राप दिया था। 



सिंधिया ने श्राप दिया था कि इसके किले में रहने वाले सभी लोग जल्दी ही मर जाएंगे और दुबारा कभी जन्म नहीं ले पाएंगे उनकी आत्मा इस किले के अंदर ही भटकती रहेगी। सिंधिया के श्राप के कारण आज भी भानगढ़ के किले से भयानक आवाज आती है और वहां शाम के बाद किसी का भी जाना वर्जित है।

#2 Mukesh miles ( मुकेश मिल्स )

दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं । मुंबई में स्थित मुकेश मिल्स के बारे में कहा जाता है कि इस स्थान पर आत्माओं का बसेरा है। कुछ पैरानॉर्मल एक्टिविटी है यहां पर, ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि अक्सर यहां पर अजीबोगरीब घटनाएं घटित होती रहती हैं । जिसके कारण इस जगह के आसपास कोई नहीं भटकता। यह मिल करीब 158 साल पुरानी है। लोगों का मानना है कि यहां पर आत्माएं रहती है।  इसी कारण मुकेश मिल्स का नाम भारत की डरावनी जगहों में शुमार है। 

क्या आप जानते हैं या हांटेड फिल्मों की शूटिंग के लिए मशहूर था। यहां पर बहुत सी भूतिया फिल्म की शूटिंग की जाती है। इसके बाद भी इस जगह का इतना खौफ है कि कई फिल्म कलाकार है यहां पर आने से डरते हैं। मुकेश मिल्स को 18 से 52 में बनाया गया था यह पूरी जगह लगभग 10 एकड़ में फैली हुई है। 

एक समय था जब यहां पर कपड़े बना करते थे। सब कुछ अच्छा चल रहा था फिर अचानक साल 1970 में यहां पर बहुत बड़ा शॉर्ट सर्किट हुआ जिसे कारण आग लग गई और सारी मेल आग में झुलस गई। लेकिन दो साल बाद दोबारा ठीक करके चलाया जान लगा। कुछ साल बाद दोबारा इस मन में आग लग गई इस बार पूरी मिल जल गई इसके अंदर कुछ नहीं बचा इसका हर एक कोना जलकर राख हो गया। 

Mukesh miles


तब से लेकर आज तक एक खंडहर बनी हुई है।  यह जगह दक्षिण मुंबई के एन ए सावंत मार्ग पर स्थित है। इसके आसपास काफी शांति बनी रहती है। इसी कारण कोई इसके आसपास भी नहीं भटकता है।  मुकेश मिल्स में शूटिंग कर चुके युवा निर्देशक रेंसिल डिसिल्वा का कहना है कि इसके भीतर एक चिमनी स्थित है जहां पर पीपल का पेड़ है।  उस पीपल के पेड़ पर आत्माओं  का निवास है।

Mukesh miles


इसको लेकर कई दावे किए जाते हैं लेकिन इसमें कितनी हकीकत है और कितना फसाना है कोई नहीं जानता दोस्तों आपका इसके बारे में क्या कहना है प्लीज हमें अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Kuldhara village  कुलधारा गांव 

हमारे देश में ऐसे कई शहर है जो अनेक तरह के राशियों को समेटे हुए हैं इन्हीं में से एक है जैसलमेर का कुलधरा गांव कहते हैं कि यह कि यह गांव शापित है। 

Kuladhara village


आज हम जानेंगे इस गांव में ऐसा क्या है कि यह गांव शापित है । क्या आप जानते हैं जैसलमेर गांव में पहले लोग रहा करते थे और बहुत खुशहाल जीवन व्यतीत करते थे लेकिन आज या गांव 200 सालों से वीरान पड़ा हुआ है कहते हैं कि पहले यहां जो लोग रहा करते थे वह अचानक रात रात यह गांव छोड़कर चले गए।  और जाते जाते  गांव को एक श्राप दे गए थे तब से लेकर आज तक यह गांव वीरान पड़ा है।

यहां पर कोई नहीं रहता है यहां चारों तरफ सन्नाटा छाया रहता है।  कहते हैं कि इस गांव पर रूहानी ताकतों का कब्जा है। यहां पर कुछ अदृश्य शक्तियां हैं जो लोगों को इस गांव में रहने नहीं देती है। यहां पर रोज हजारों की संख्या में पर्यटक घूमने आते हैं लेकिन शाम होते ही यहां कोई नहीं जाता लोगों का कहना है कि शाम ढलने के बाद जो भी इस गांव में गया वह किसी न किसी  हादसे का शिकार हो गया। अब सबसे बड़ा रहस्य यह बना हुआ है कि आखिर वह क्या कारण था जिसके कारण एक हंसता खेलता गांव एक वीराने में तब्दील हो गया।  ऐसा क्या हुआ था यहां पर ।

Kuldhara village


कुलधरा गांव इतिहास से जुड़ी एक कहानी है। कहते हैं कि आज से लगभग 200 साल पहले 84 गांव पालीवाल ब्राह्मणों के हुआ करते थे। कुलधरा गांव की रियासत का दीवान सावन सिंह था। सालम सिंह की नजर गांव की एक लड़की पर पड़ गई। वह उससे शादी करने की जिद पर अड़ गया ।

जब लोगों को इस बात का पता चला तो उन्हें लड़की के सम्मानऔर अपने आत्म सम्मान के लिए इस गांव को खाली करने का निश्चय कर लिया और धीरे-धीरे गांव खाली करने लोग जब उस गांव को खाली कर रहे थे तब पालीवाल के ब्राह्मणों ने इस गांव को श्राप दिया तब से लेकर आज तक इस गांव में कुछ बुरी आत्माओं का वास है।

शाम ढलने के बाद इस गांव में जाना मना है यहां तक कि प्रशासन भी इसकी अनुमति नहीं देती है क्या क्योंकि शाम ढलने के बाद कोई भी गाड़ी यहां से गुजराती है तो  इसके पीछे पैर और हाथ के निशान बन जाते हैं जो बहुत डरावना लगता है।

Sanjay wann संजय वन


Sanjay wan

संजय वन दिल्ली में स्थित है दिल्ली का यह ऐसा इलाका है जो पार्क कम और जंगल ज्यादा लगता हैं। दिल्ली का यह इलाका देख कर यकीन नहीं होता है कि यह दिल्ली में है। संजय वन अपनी हरियाली के लिए मशहूर नहीं बल्कि यह जाना जाता है इससे जुड़ी कहानियों को लेकर। यह दिल्ली का सबसे हॉन्टेड प्लेस माना जाता है और शाम होने के बाद यहां कोई नहीं जाता। 

Sanjay wan


उसमें जाने वाले शिकारियों ने बताया है कि वहां पर बहुत सारे बड़े बरगद के वृक्ष है जहां पर सफेद साड़ी में एक औरत है उन पेड़ों के पीछे छुपती हुई दिखाई देती  है । इसलिए शाम ढलने के बाद वहां जाने की हिम्मत कोई नहीं जुटा पाता।


Conclusion_______
         
            
            हेलो दोस्तों कैसा लगा हमारा पोस्ट। इस पोस्ट के माध्यम से मैंने आपको भूतों के होने या ना होने के बारे में कुछ जानकारी दी है।आज भी यह रहस्य  बना हुआ है कि भूत होते हैं कि नहीं पर इन सभी घटनाओं से पता चलता है कि भूत होते हैं की नही लेकिन किसी नदेखा नहीं और जिसने देखा उसकी बात पर यकीन करना मुश्किल है। आप सभी को क्या लगता है भूत होते हैं...?



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)
Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !